Poonam Pandey Death

94 / 100

Poonam Pandey Death Fake News : गिरफ्तार होंगी पूनम पांडे? मरने का नाटक करना महंगा पड़ेगा…read more

Poonam Pandey Death Fake News :

 पॉपुलर एक्ट्रेस और मॉडल पूनम पांडे हाल ही में सुर्खियों में हैं। उसने खुद की मौत की फर्जी खबर फैलाई थी, जिसके चलते अब उसकी गिरफ्तारी हो सकती है। महाराष्ट्र में कुछ विधायकों ने फर्जी (Poonam Pandey Death Fake News) खबरें फैलाने के आरोप में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

पूनम पांडे की मौत की खबर से हर कोई हैरान रह गया। लेकिन अगले दिन उन्होंने खुद के जिंदा होने का वीडियो शेयर कर सभी को चौंका दिया। इसी वीडियो में उन्होंने कहा कि उन्होंने सर्वाइकल कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए अफवाह फैलाई है।

अपनी इस हरकत के कारण पूनम पांडे लोगों के निशाने पर आ गई हैं। फर्जी (Poonam Pandey Death Fake News) खबरें फैलाने और लोगों को गुमराह करने को लेकर सेलिब्रिटीज, फैंस के साथ-साथ नेटिजन्स भी उनसे नाराज हैं।

Poonam Pandey Death Casue: Actor Poonam Pandey dies of …

Poonam Pandey Death Fake News – पूनम पांडे को अपनी मौत का नाटक करना भारी पड़ रहा है:

Poonam Pandey Death Fake News
Poonam Pandey Death Fake News

पूनम पांडे को अपनी मौत का नाटक करना भारी पड़ रहा है। वेस्टर्न इंडिया फिल्म वर्कर्स यूनियन ने मांग की है कि 24 घंटे के अंदर लिखित माफी मांगी जाए, नहीं तो वे हड़ताल पर चले जाएंगे। अन्यथा उन्होंने पूनम पांडे से जुड़े किसी भी शूट में हिस्सा न लेने की चेतावनी दी है। पूनम ने अफवाह फैला दी थी कि उनकी मौत कैंसर से हुई है।

राजनीतिक हस्तियों ने पूनम की गिरफ्तारी की मांग:

पूनम पांडे की मौत की अफवाहें (Poonam Pandey Death Fake News) फैलने के बाद, फिल्म इंडस्ट्री और राजनीतिक हस्तियों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य (विधायक) सत्यजीत तांबे ने एक्स पर री-पोस्ट करते हुए पूनम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

Poonam Pandey FIR – पूनम पांडे के खिलाफ शिकायत दर्ज:

Poonam Pandey Death Fake News
Poonam Pandey Death Fake News

पूनम पांडे के खिलाफ मुंबई के वकील अली काशिफ खान ने शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने पूनम पांडे पर अपनी मौत की अफवाहें फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर अपराध है और पूनम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने अपनी शिकायत में पूनम पांडे की मैनेजर निकिता शर्मा और एजेंसी हॉटरफ्लाय का भी जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि ये दोनों भी पूनम पांडे की अफवाहों में शामिल हैं।

उन्होंने आईपीसी की धारा 417, 420, 120 B और 24 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है।

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने पूनम की निंदा की

सोशल मीडिया पर पूनम पांडे के फैंस से लेकर फिल्म इंडस्ट्री के कई सितारों ने इसे ‘घिनौना’, ‘शर्मनाक’ और ‘सस्ती लोकप्रियता’ बताया है। पूजा भट्ट, सारा खान, अली गोनी और राहुल वैद्य सहित सोशल मीडिया के फैन्स और फिल्म हस्तियों को यह घिनघुना लगा और उन्होंने पूनम की कड़ी निंदा की और इस बीमारी के प्रति ऐसी शर्मनाक हरकत करने के लिए उनकी आलोचना की।

Poonam Pandey Death Fake News : पॉपुलर एक्ट्रेस और मॉडल पूनम पांडे हाल ही में सुर्खियों में हैं। उसने खुद की मौत की फर्जी खबर फैलाई थी, जिसके चलते अब उसकी गिरफ्तारी हो सकती है। महाराष्ट्र में कुछ विधायकों ने फर्जी (Poonam Pandey Death Fake News) खबरें फैलाने के आरोप में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

पूनम पांडे की मौत की खबर से हर कोई हैरान रह गया। लेकिन अगले दिन उन्होंने खुद के जिंदा होने का वीडियो शेयर कर सभी को चौंका दिया। इसी वीडियो में उन्होंने कहा कि उन्होंने सर्वाइकल कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए अफवाह फैलाई है।

अपनी इस हरकत के कारण पूनम पांडे लोगों के निशाने पर आ गई हैं। फर्जी (Poonam Pandey Death Fake News) खबरें फैलाने और लोगों को गुमराह करने को लेकर सेलिब्रिटीज, फैंस के साथ-साथ नेटिजन्स भी उनसे नाराज हैं।

Poonam Pandey Death Fake News – पूनम पांडे को अपनी मौत का नाटक करना भारी पड़ रहा है

Poonam Pandey Death Fake News
Poonam Pandey Death Fake News

पूनम पांडे को अपनी मौत का नाटक करना भारी पड़ रहा है। वेस्टर्न इंडिया फिल्म वर्कर्स यूनियन ने मांग की है कि 24 घंटे के अंदर लिखित माफी मांगी जाए, नहीं तो वे हड़ताल पर चले जाएंगे। अन्यथा उन्होंने पूनम पांडे से जुड़े किसी भी शूट में हिस्सा न लेने की चेतावनी दी है। पूनम ने अफवाह फैला दी थी कि उनकी मौत कैंसर से हुई है।

राजनीतिक हस्तियों ने पूनम की गिरफ्तारी की मांग:

पूनम पांडे की मौत की अफवाहें (Poonam Pandey Death Fake News) फैलने के बाद, फिल्म इंडस्ट्री और राजनीतिक हस्तियों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य (विधायक) सत्यजीत तांबे ने एक्स पर री-पोस्ट करते हुए पूनम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

Poonam Pandey FIR – पूनम पांडे के खिलाफ शिकायत दर्ज:

Poonam Pandey Death Fake News
Poonam Pandey Death Fake News

पूनम पांडे के खिलाफ मुंबई के वकील अली काशिफ खान ने शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने पूनम पांडे पर अपनी मौत की अफवाहें फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर अपराध है और पूनम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने अपनी शिकायत में पूनम पांडे की मैनेजर निकिता शर्मा और एजेंसी हॉटरफ्लाय का भी जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि ये दोनों भी पूनम पांडे की अफवाहों में शामिल हैं।

उन्होंने आईपीसी की धारा 417, 420, 120 B और 24 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है।

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने पूनम की निंदा की:

सोशल मीडिया पर पूनम पांडे के फैंस से लेकर फिल्म इंडस्ट्री के कई सितारों ने इसे ‘घिनौना’, ‘शर्मनाक’ और ‘सस्ती लोकप्रियता’ बताया है। पूजा भट्ट, सारा खान, अली गोनी और राहुल वैद्य सहित सोशल मीडिया के फैन्स और फिल्म हस्तियों को यह घिनघुना लगा और उन्होंने पूनम की कड़ी निंदा की और इस बीमारी के प्रति ऐसी शर्मनाक हरकत करने के लिए उनकी आलोचना की।

पूजा भट्ट, जिन्होंने पूनम पांडे के निधन की खबर पर शोक व्यक्त किया था, उन्होंने अपना पुराना पोस्ट हटा दिया है। पूजा ने कहा, “मैं कभी अपने ट्वीट्स नहीं हटाती, लेकिन इस मामले में मैंने ऐसा किया। मुझे सर्वाइकल कैंसर से पूनम पांडे के निधन की खबर सुनकर हैरानी हुई थी। मैंने ऐसा क्यों किया?”

Who is Poonam Pandey – कौन हैं पूनम पांडे?

पूनम पांडे हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की एक पॉपुलर एक्ट्रेस और मॉडल हैं। वह सोशल मीडिया पर एक्टिव रहती हैं और अपने बोल्ड और हॉट अंदाज के लिए जानी जाती हैं. 2013 में, उन्होंने ‘नशा’ इस फिल्म से एक्टिंग की शुरुआत की। उन्होंने कई फिल्मों और टीवी शोज में काम किया है।

FaQ-

यह सभी बातें फेक न्यूज़ हैं और पूनम पांडे की मौत पर कोई सत्यता नहीं है। इस तरह की खबरें सामाजिक मीडिया पर फैलाई जा रही हैं जो गलत हैं और लोगों को गुमराह कर सकती हैं। इस तरह की खबरों का विस्तार से पता लगाना और सत्यता की जाँच करना हमेशा महत्वपूर्ण है।

इसके अलावा, वेस्टर्न इंडिया फिल्म वर्कर्स यूनियन द्वारा की गई धमकी भी खबरों का हिस्सा नहीं है और यह भी गलत है। ऐसी खबरों को बेवकूफ बनाने का प्रयास करना नकारात्मक प्रचार है और इससे सामाजिक मीडिया और सार्वजनिक जीवन में गलत प्रभाव पैदा हो सकता है।

सोशल मीडिया पर लोगों की निंदा करना और उन्हें ‘घिनौना’ या ‘शर्मनाक’ बताना भी उचित नहीं है। यह सही नहीं है क्योंकि यह भी उनके खिलाफ बेबुनियाद आरोप हो सकते हैं।

इस प्रकार की खबरों का सही स्रोतों से पता लगाना और सत्यता की जाँच करना हम सभी की जिम्मेदारी है ताकि हम गलत जानकारी से बच सकें।read more

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now     

Leave a comment